चाची

बच्चों की दोस्त और शिक्षकों की सहायक - हमारी चाची.

Subscribe

क्वॉरंटीन स्कूल – शिक्षण सुझाव पुड़िया #4

#self-learning #tips #quarantine-school

---

क्वॉरंटीन स्कूल – शिक्षण सुझाव पुड़िया
आकर्षक, रोमांचक और दिमाग़ की बत्ती खुजा देने वाले सीखने के ट्रिगर!
शुरुआत बुधवार, 1 अप्रैल, 2020 से
देखिए ज़रा!

बच्चे ऊब गए हैं, शिक्षक उपलब्ध नहीं हैं और माता-पिता थक चुके हैं।

चाची मदद करने के लिए हाज़िर है!

क्वॉरंटीन स्कूल श्रृंखला चलती चले जा रही है और आज हम फिर आप के लिए तीन नए लर्निंग ट्रिगर्स लाएँ हैं। इन्हें आदर्श रूप से माता-पिता या शिक्षकों द्वारा बच्चों के साथ बातचीत की शुरुआत के रूप में उपयोग किया जाना चाहिए। बच्चों की रूचि या आपके इच्छित शिक्षण उद्देश्य के आधार पर आप जो चाहें वो ट्रिगर चुन सकते हैं और अन्वेषण की यात्रा की ओर प्रारम्भ कर सकते हैं!

नीचे दिए लिंक से आप किसी भी ट्रिगर को खोल सकते हैं –

  1. दादी के लिए रसोई को कैसे बदलेंगे?
  2. क्या एक कुर्सी नर है या मादा?
  3. कब चलेगी बस?

दादी की नई रसोई! #

क्या आपने कभी हवाई महल में रहने की कल्पना की है? बादलों के ऊपर… ऐसी चीजों के बारे में कल्पना करने में कितना मज़ा आता है! आइए जीवन की एक वास्तविक समस्या को हल करने के लिए हम अपने कल्पना कौशल का उपयोग करें। कल्पना करें कि आपको अपनी दादी की रसोई को इस तरह से फिर से तैयार करना है कि उनके लिए इसका उपयोग करना आसान हो जाए।

यदि आपकी दादी या नानी आपके साथ नहीं रहती हैं तो आप इस गतिविधि को अपनी माँ या अपने घर के किसी अन्य बड़े (जो रसोई चलाते हैं) के साथ कर सकते हैं!

आइए इस कार्य को विभिन्न प्रश्नों के एक सेट में तोड़ दें।

  1. सब से पहले चलिए रसोई का एक मोटा डिजाइन बनाया जाए। अपनी रसोई का नक्शा कागज पर बनाएं। सुनिश्चित करें कि आप ड्राइंग में सभी घटकों को जोड़ते हैं - स्टोव, फ्रिज, बर्तन … और कुछ भी जो आपको पसंद है! ड्राइंग का कलात्मक होना जरूरी नहीं है - यह सिर्फ कार्यात्मक होना है, मतलब यह ड्रॉइंग आपको समझ में आनी चाहिए। :)
  2. रसोई को उपयोग में आसान बनाने के लिए हमें सबसे पहले यह पता लगाना होगा कि आपकी दादी को अपनी वर्तमान में किन कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। अपनी दादी को देखें जब वे भोजन पकाने, चाय बनाने या बर्तन धोने के लिए रसोई का उपयोग करती है। उन्हें क्या मुश्किलें आती हैं?
  3. और अब अंत में हम इस सूची का उपयोग अपनी रसोई का नया डिजाइन बनाने के लिए करेंगे। इस चरण में इन प्रश्नों का उत्तर देने का प्रयास करें -
    • क्या आप रसोई की शेल्फ की ऊंचाई बदलेंगे?
    • क्या आप फ्रिज के स्थान को बदलेंगे?
    • क्या चीनी, नमक और मसाले वाली डिब्बियों को कहीं और रखेंगे?
    • आप बर्तन कहाँ रखेंगे?

इस डिज़ाइन को अपने परिवार के साथ साझा करें। उनसे भी सुझाव मांगे!


क्या एक कुर्सी नर है या मादा? #

क्या आपने देखा है कि टीवी पर समाचार में साक्षात्कार कैसे किए जाते हैं? आइए एक साक्षात्कार हम भी करें। लेकिन किसी व्यक्ति का नहीं। एक कुर्सी का साक्षात्कार करते हैं! आप एक कुर्सी से क्या सवाल पूछेंगे?

यहाँ कुछ विचार हैं -

  1. बायोडाटा: आयु, स्थान, मालिक?
  2. गुण: रंग, शामिल धातु या सामग्री, फ़ोल्ड?
  3. गणितीय गुण: लातों और भुजाओं की संख्या, पीठ का कोण, सीधी रेखाओं की संख्या?

क्या कुर्सी के और भी गुण हैं जिनके बारे में आप पूछताछ कर सकते हैं? कुर्सी बनाने की प्रक्रिया के बारे में सोच कर देखें!

क्या होगा अगर कुर्सी एक व्यक्ति की तरह बोलने लगे? क्या कुर्सी एक नर है या मादा? क्या हर एक कुर्सी एक ही लिंग की होगी? इसके बारे में सोचो!


कब चलेगी बस? #

क्या आपने बस में यात्रा की है? आप बस में कहाँ से चढ़े - बस स्टॉप से या बस स्टैंड से? आपने शायद देखा होगा कि हर दिन सैकड़ों बसें पूरे देश में सड़कों पर चलती हैं।

लेकिन आपको कैसे पता चलेगा कि बस स्टैंड से बस कब निकलती है? या यह आपके बस स्टॉप पर कब आएगी?

  1. जैसे आपके पास स्कूल में टाइम टेबल होता है वैसे ही बसों का भी टाइम टेबल है। देखें कि क्या आप अपने स्थानीय बस स्टैंड का बस टाइम टेबल पा सकते हैं। मदद के लिए किसी बड़े से अनुरोध करें।
  2. कल्पना कीजिए कि आपको अपने शहर या गाँव के लिए बस टाइम टेबल बनाने का प्रभारी बनाया गया है। आप यह कार्य कैसे पूरा करेंगे? आप प्रतिदिन कितनी बसों की चलने की अनुमति देंगे? आप यह कैसे सुनिश्चित करेंगे कि अधिकतम आवश्यकता के समय बसें उपलब्ध हों? क्या सभी बसों के लिए यात्रियों की संख्या समान है? आप इस बात को कैसे अपने टाइम टेबल में शामिल करेंगे?


इन पोस्ट के साथ अपडेट रहने के लिए हमारे सोशल मीडिया हैंडल (पेज के नीचे लिंक) पर हमें फॉलो करें। अन्य संसाधनों के लिए नीचे Resources अनुभाग में देखें।

चाची

अन्य भाषा में पढ़ें:


कृपया अपने कॉमेंट में अपना नाम ज़रूर बताएँ!